जनपद बुलन्दशहर निर्देशों के बाद भी लेखपालों का धरना बरकरार


जनपद बुलन्दशहर निर्देशों के बाद भी लेखपालों का धरना बरकरार

जनपद बुलन्दशहर, शासन ने प्रदेश स्तर पर लेखपाल संघ के चल रहे आंदोलन को अवैध घोषित करते हुए जारी रखने पर कार्यवाही की चेतावनी दी थी। इसके बावजूद लेखपालों ने सदर तहसील पर कार्य से विरत रहकर धरना प्रदर्शन जारी रखा। धरना प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे जिलाध्यक्ष सचिन गर्ग ने बताया कि एसीपी वेतन विसंगति, वेतन उच्चीकरण, प्रोन्नत कॉटर रिव्यू, पेंशन विसंगति, भत्ते, राजस्व लेखपाल पदनाम परिवर्तन, राजस्व उपनिरीक्षक सेवा नियमावली 2018 को जारी कराने तथा सम्मान निधि में मध्य प्रदेश राज्य की भांति 18 रुपये प्रति लाभार्थी का मानदेय जारी करने की मांग को लेकर लेखपाल 25 नवंबर से आंदोलनरत हैं। कई बार शासन से वार्ता हुई लेकिन मांगों को पूर्ण नहीं किया गया। उन्होंने बताया कि शासन ने लेखपालों के धरने को अवैध बताया है और नो वर्क नो पे के साथ-साथ सेवा में ब्रेक इन सर्विस मानते हुए कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने बताया कि शासन अपना काम करे लेकिन संघ अपने आंदोलन को जारी रखेगा। लेखपालों ने तहसील परिसर में धरना प्रदर्शन करते हुए मांगों को पूर्ण करने की मांग की। इस मौके पर सुदेश कुमार, लक्ष्मण सिंह राघव, यशपाल सिंह, समय सिंह, अमित भाटी, दिनेश कुमार सहित सैकड़ों लेखपाल मौजूद रहे।

You might also like!

Leave a Comment

Ads
Ads
Ads