हापुड़- धाम बृजघाट - सावन मास की सोमवती अमावस्या पर पहुंचे हजारों श्रद्धालु धाम बृजघाट पुलिस व्यवस्था हुई फेल- सोशल डिस्टेंसिंग चेहरे पर मास्क नजर नहीं आया


हापुड़-  धाम बृजघाट - सावन मास की सोमवती अमावस्या पर पहुंचे हजारों श्रद्धालु धाम बृजघाट पुलिस व्यवस्था हुई फेल- सोशल डिस्टेंसिंग चेहरे पर मास्क नजर नहीं आया

जनपद हापुड़- जहां पर कोविड-19 महामारी के चलते हापुड़ प्रशासन ने किए थे बड़े बड़े वादे धाम बृजघाट के लिए वहीं पर सावन मास की सोमवती अमावस्या के चलते पहुंचे मां गंगा के दर्शन करने हजारों श्रद्धालु तथा डुबकी लगाने पुलिस व्यवस्था हुई पूरी तरह फेल कोविड-19 के चलते, जहां पर सोशल डिस्टेंसिंग और चेहरे पर मास्क नजर नहीं आया, जनपद हापुड़ के थाना गढ़मुक्तेश्वर क्षेत्र के अंदर धाम बृजघाट सावन मास की सोमवती अमावस्या पर पहुंचे हजारों श्रद्धालु लगाई मां गंगा के अंदर आस्था की डुबकी जहां पर एक तरफ कोविड-19 का संक्रमण बढ़ता नजर आ रहा है, वहीं पर प्रशासन लाख अपील कर रहा है मगर जीतने के बावजूद भी व्यवस्था हुई फेल ,नहीं रुक पाएं श्रद्धालु, पुलिस प्रशासन की मौजूदगी के अंदर पहुंचे हजारों श्रद्धालु, वहीं अगर बात की जाए तो इस नगरी बृजघाट की तो आवाजाही का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा ,नगरी में लगने वाले कांवड़ मेरे को स्थगित करने के लिए की गई थी एक हाई लेवल मीटिंग का आयोजन जिसके अंदर हापुड़ एसएसआई सर्वेश कुमार मिश्रा और गढ़मुक्तेश्वर एसडीएम विजय वर्धन तौमर द्वारा स्थानीय लोगों को दिए गए थे सख्त निर्देश की तीर्थ नगरी बृजघाट में सावन मास के अंदर कोई भी घाट पर पूजा पाठ नहीं की जाएगी तथा गंगा के अंदर नाव नहीं चलेगी उसके अलावा मुंडन भी नहीं किए जाएंगे मगर सारे दावे हुए प्रशासन के फेल ,जहां पर प्रशासन की मौजूदगी के अंदर पहुंच रहे हैं हजारों श्रद्धालु प्रशासन बना मूकदर्शक श्रद्धालुओं के सामने, जहां एक तरफ देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोगों से लगातार अपील कर रहे हैं कि मास्को और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें वहीं पर बृजघाट में सावन मास की सोमवती अमावस्या स्नान करने आए हजारों श्रद्धालु मास्क सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते ही नजर आए, अगर धाम बृजघाट पर यह सिलसिला इसी तरह चलता रहा तो कॉविड 19 को अपना असली रूप दिखाने के अंदर समय नहीं लगेगा क्योंकि मालूम नहीं किसी व्यक्ति को क्या प्रॉब्लम है, क्योंकि धाम बृजघाट आते हैं काफी दूर-दूर से श्रद्धालु मां गंगा के दर्शन करने मगर हो सकता है यह से मामला गंभीर जनपद के लिए।

You might also like!

Leave a Comment

Ads
Ads
Ads