गाजियाबाद कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत रखते हुए कोविड-19 के नोडल अधिकारी सेंथिल पांडियन सी ने कलेक्ट्रेट के सभागार में की बैठक


गाजियाबाद कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत रखते हुए कोविड-19 के नोडल अधिकारी सेंथिल पांडियन सी ने कलेक्ट्रेट के सभागार में की बैठक

जनपद गाजियाबाद कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत रखते हुए कोविड-19 के नोडल अधिकारी सेंथिल पांडियन सी ने कलेक्ट्रेट के सभागार में की बैठक। जिला अधिकारी अजय शंकर पांडेय के नेतृत्व में जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के द्वारा कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोकने में किए जा रहे प्रयासों की सराहना की गई । आगे भी इसी क्षमता के साथ सभी अधिकारियों के द्वारा नागरिकों को कोरोना के संक्रमण से बचाने के लिए अधिकारी करें कार्यवाही । नोडल अधिकारी द्वारा कोविड-19 इंटीग्रेटेड कंट्रोल रूम का किया स्थल निरीक्षण। कंट्रोल रूम के कार्यों की गहनता के साथ समीक्षा करते हुए कार्य की नोडल अधिकारी ने की तारीफ। कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत रखते हुए सभी जनपद वासी कोरोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षित बने रहें और पूरे जनपद में कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके वहीं दूसरी ओर कोरोना मृत्यु दर को कम करने के उद्देश्य से कोविड-19 के नोडल अधिकारी सेंथिल पांडियन सी के द्वारा कलेक्ट्रेट के सभागार में एक महत्वपूर्ण बैठक की अध्यक्षता करते हुए कोविड-19 महामारी को लेकर जिला अधिकारी के नेतृत्व में किए जा रहे प्रयासों की गहनता के साथ समीक्षा की गई। नोडल अधिकारी ने समीक्षा के दौरान पाया कि उनके द्वारा विगत बैठक में जनपद के अधिकारियों को कोरोना के वायरस के संक्रमण को रोकने के संबंध में जो दिशा निर्देश दिए गए थे उनका अक्षर से पालन अधिकारियों के द्वारा सुनिश्चित करते हुए अच्छा कार्य किया गया है और जनपद गाजियाबाद में कोरोना मृत्यु दर को कम करने तथा संभावित कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की खोज करने एवं उनका यथा समय इलाज संभव कराने की दिशा में जिला प्रशासन पुलिस एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों द्वारा गुणवत्ता परक रूप से कार्यवाही सुनिश्चित करते हुए कोरोना के संक्रमण को रोकने की दिशा में महत्वपूर्ण कार्य किया गया है जिससे जनपद में कोरोना मृत्यु दर में कमी आई है। वहीं दूसरी ओर कोरोना संक्रमित व्यक्तियों को यथा समय इलाज सरकार एवं शासन की मंशा के अनुरूप जनपद में उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने प्रशासन पुलिस एवं स्वास्थ्य विभाग के सभी अधिकारियों को बैठक में आगे भी इसी क्षमता के साथ कार्य करने का आह्वान किया है और सभी अधिकारियों के कार्यों की सराहना करते उनका हौसला भी बढ़ाया गया है। नोडल अधिकारी सेंथिल पांडियन सी के द्वारा बैठक में सभी अधिकारियों का आह्वान किया गया कि सरकार की मंशा के अनुरूप एंटीजन किट के माध्यम से जनपद में अभियान चलाकर संभावित संक्रमित कोरोना व्यक्तियों की खोज करते हुए उन्हें तत्काल इलाज संभव कराया जाए ताकि जनपद में सभी नागरिक कोरोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षित बने रहे हैं। बैठक के उपरांत नोडल अधिकारी द्वारा विकास भवन में पहुंचकर कोविड-19 इंटीग्रेटेड कंट्रोल रूम का भी स्थल निरीक्षण किया गया। जहां पर उन्होंने पाया कि कंट्रोल रूम पर कोविड-19 को लेकर प्रतिदिन लगभग 300 शिकायतें एवं समस्याएं प्राप्त हो रही हैं संबंधित अधिकारियों के द्वारा सभी शिकायतों एवं समस्याओं का निराकरण उसी दिन किया जा रहा है। वहीं दूसरी ओर कोरोना को लेकर जिन मरीजों को होम आईसुलेशन की सुविधा प्रदान की गई है कंट्रोल रूम के माध्यम से दिन में सुबह एवं शाम सभी मरीजों से बात करते हुए उनके हालचाल एवं इलाज की जानकारी प्राप्त की जा रही है और यथा समय किसी भी समस्या के संबंध में उनका निराकरण संभव कराया जा रहा है ताकि सरकार की इस योजना का सभी संक्रमित व्यक्तियों को लाभ प्राप्त हो सके। उन्होंने समीक्षा के दौरान यह भी पाया कि कंट्रोल रूम के माध्यम से आरआरटी टीम का मरीजों के शिफ्टिंग में लोकेट करने में कंट्रोल द्वारा पूर्ण सहयोग दिया जा रहा है जिसके कारण चिन्हित कोरोना संक्रमित व्यक्तियों को बहुत कम समय में अस्पतालों में आइसोलेशन की सुविधा जिला प्रशासन के द्वारा उपलब्ध कराई जा रही है। कंट्रोल रूम के द्वारा कोविड-19 को लेकर प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग को शासन स्तर पर निरंतर विभिन्न सूचनाएं भी उपलब्ध कराई जा रही हैं। नोडल अधिकारी के द्वारा कंट्रोल रूम के कार्यों की गहनता के साथ समीक्षा करते हुए कंट्रोल रूम के नोडल अधिकारी एवं उनकी टीम के कार्यों की भूरी भूरी प्रशंसा की गई है। नोडल अधिकारी की बैठक में जिला अधिकारी अजय शंकर पांडेय ने उन्हें आश्वस्त किया कि कोविड-19 महामारी को लेकर उनके द्वारा जो मार्ग निर्देश दिए गए हैं उनका जनपद में आगे भी इसी प्रकार अक्षर से पालन सुनिश्चित कराते हुए कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी ताकि जनपद में कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से पूर्ण रूप से रोका जा सके। आयोजित महत्वपूर्ण बैठक में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी मुख्य विकास अधिकारी अस्मिता लाल अपर जिला अधिकारी प्रशासन अपर जिलाधिकारी भूमि अर्जन मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर एनके गुप्ता स्वास्थ्य विभाग एवं प्रशासन के अन्य अधिकारीगण भी उपस्थित रहे।

You might also like!

Leave a Comment

Ads
Ads
Ads