आजादी के बाद मोदी युग ने ली ऐसी अंगड़ाई है। जन्मदिन मोदी का, जन-जन पुकार रहा बधाई है।


आजादी के बाद मोदी युग ने ली ऐसी अंगड़ाई है।
जन्मदिन मोदी का, जन-जन पुकार रहा बधाई है।

आजादी के बाद मोदी युग ने ली ऐसी अंगड़ाई है। जन्मदिन मोदी का, जन-जन पुकार रहा बधाई है। सच्चा राष्ट्रभक्त बन, हर दिल पर दस्तक लगाई है। कर जो न सका कोई, नैय्या उसकी पार लगाई है। सेवक बन,देश प्रेम की, जन जन धुन जगाई है। गंदगी पर किया प्रहार, स्वच्छता की धुन जगाई है। आजादी के बाद - - - - - - - पुकार रहा बधाई है।। घोटाले बाजों पर लगा अंकुश, उम्मीद जगाई है। धारा 370, तीन तलाक, आतंकवाद,राम मंदिर जैसे मुद्दों का करके सफाया, डगर नई बनाई हैं। श्रेष्ठ भारत, एक भारत, सबका विकास,के दम आत्मनिर्भर, नारा देकर, छवि देश की बढ़ाई हैं। आजादी के बाद - - - - - - - पुकार रहा बधाई है।। समस्या अनेक, फिर तुम पर ही उम्मीद लगाई है। देश हो या प्रदेश, कानून से बढ़कर कोई ना हो, गन्ना भुगतान हो या हो निवेश की रकम लौटानी, भ्रष्टाचार मुक्त बने देश आपसे उम्मीद लगाई है। प्रेम की है शुभकामना,ढेरों ढेरों आपको बधाई है आजादी के बाद - - - - - - - पुकार रहा बधाई है।। (प्रेमचंद वर्मा झिंझाना)

You might also like!

Leave a Comment

Ads
Ads
Ads