कलेक्ट्रेट के सभागार में जिलाधिकारी रविंद्र कुमार ने प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक की


कलेक्ट्रेट के सभागार में जिलाधिकारी रविंद्र कुमार ने प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक की

उजाला हितैषी ब्यूरो, बुलन्दशहर। आज, दिनांक 17 जनवरी 2020 को कलेक्ट्रेट के सभागार में जिलाधिकारी रविन्द्र कुमार ने जनपद के पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए जनपद में कानून व्यवस्था की विस्तृत रूप से समीक्षा की। बैठक में पंचायत चुनाव को दृष्टिगत रखते हुए थानावार आपराधिक प्रवृत्ति के लोगो के विरुद्ध की गई गुंडा एक्ट, गैंगेस्टर, शस्त्र लाइसेंस निरस्तीकरण एवं अवैध शराब की बिक्री, तस्करी आदि रोकने हेतु की गयी कार्यवाही की समीक्षा करते हुए थाना प्रभारियों को निर्देश दिए गए कि गुंडा एक्ट की कार्रवाई के लिए ठोस आधार पर साक्ष्य प्रस्तुत करते हुए रिपोर्ट प्रस्तुत की जाए। गुण्डा एक्ट के अन्र्तगत लंबित प्रकरणों में तामिला त्वरिता के साथ सुनिश्चित कराया जाये ताकि संबंधित दोषियों को जिला बदर किये जाने की कार्यवाही की जा सके। साथ ही ऐसे लोगों के पास यदि शस्त्र लाइसेंस हो तो उनके निरस्तीकरण के लिए भी रिपोर्ट भेजी जाए। उन्होंने कहा कि 107/116 के अन्तर्गत असामाजिक, उपद्रवी लोगों के विरूद्ध कार्यवाही करते हुए उन्हे पाबन्द मुचलका किया जाये। आगामी पंचायत चुनाव को दृष्टिगत रखते हुए ग्राम में उदण्ड प्रवृत्ति के लोगों को चिन्हित करते हुए पाबन्द मुचलका आदि की कार्रवाई सुनिश्चित की जाए तथा कार्रवाई के संबंध में एनाउन्समेन्ट के माध्यम से प्रचार-प्रसार कराया जिससे अन्य लोगों को सबक मिल सके। उन्होंने कहा कि जिला बदर किए गए लोगों के संबंध में भौतिक रूप से ग्राम में जाकर/भ्रमण के दौरान सत्यापन कर लिया जाए कि वह वास्तव में जनपद से बाहर रह रहे हैं। साथ ही पंचायत चुनाव के मद्देनजर गुंडा एक्ट में जिला बदर किए गए ऐसे लोगों जिनकी समयावधि जल्द समाप्त होने वाली है को बढ़ाए जाने के लिए नियमानुसार रिपोर्ट प्रस्तुत की जाए। थाना स्तर पर 10 बड़े आपराधियों को चिन्हित करते हुए उनके विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही की जाये। जिलाधिकारी ने बैठक में उपस्थित पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि जनपद में अवैध शराब की बिक्री को पूर्ण रूप से रोकने के लिए अवैध शराब की बिक्री में संलिप्त लोगों को चिन्हित करते हुए उनके विरुद्ध गुंडा एक्ट आदि कार्रवाई नियमानुसार सुनिश्चित कराई जाए। साथ ही गांव के चैकीदारों के माध्यम से भी अवैध शराब की बिक्री के संबंध में सूचना संकलित की जाए। जिलाधिकारी ने मिशन शक्ति, एससी-एसटी एक्ट एवं महिला उत्पीड़न संबंधी घटनाओं में तत्काल प्राथमिकता पर कार्यवाही सुनिश्चित करने तथा शासन की ओर से अनुमन्य आर्थिक सहायता संबंधित पीडित को दिये जाने की कार्यवाही प्राथमिकता से सुनिश्चित की जाये। जिलाधिकारी ने बैठक में उपस्थित थाना प्रभारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि जनपद में आपराधिक मामलों में पंजीकृत लोगों के पास शस्त्र लाइसेंस को निरस्त करने के लिए ठोस आधार के साक्ष्य प्रस्तुत करते हुए रिपोर्ट प्रेषित की जाए। पंचायत चुनाव में पूर्व प्रधान प्रधान प्रत्याशी जिनके विरूद्ध आपराधिक मामले पंजीकृत हैं और उनके पास शस्त्र लाइसेंस हो तो उनके निरस्तीकरण के संबंध में भी कार्रवाई की जाए। बैठक में उपस्थित वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री संतोष कुमार सिंह ने उप जिलाधिकारी/क्षेत्राधिकारी पुलिस को निर्देशित किया गया कि वह थानावार पुलिस कर्मियों, लेखपाल, चैकीदार के साथ बैठक करते हुए क्षेत्र में अवैध शराब की बिक्री को पूर्णतया रोकने की कार्रवाई सुनिश्चित करें। जनपद में अवैध शराब की बिक्री को पूर्णतया रोकने के लिए अभियान चलाकर अवैध शराब में संलिप्त लोगों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही करें। सभी सीओ को निर्देशित किया गया कि जिला बदर किए गए लोगों की मोबाइल नम्बर से सीडीआर निकलवाकर लोकेशन से सत्यापन किया जाए कि वास्तव में संबंधित अपराधी जिला बदर हैं अथवा नहीं, यदि उनकी लोकेशन जनपद में पाई जाती हैं तो संबंधित थाना प्रभारी का स्पष्टीकरण प्रस्तुत करते हुए नियमानुसार कार्रवाई सुनिश्चित की जाए। साथ ही पूर्व के चुनावों में जिन गांवों में कोई भी घटना घटित हुई हैं वहां पर वशेष निगरानी रखते हुए पूर्व से ही निरोधात्मक कार्यवाही सुनिश्चित करा ली जाये। उप जिलाधिकारी/सीओ को यह भी निर्देश दिये कि संयुक्त रूप से क्षेत्र में भ्रमण/निरीक्षण करते हुए शान्ति व्यवस्था बनायी रखें। बैठक में पंचायत चुनाव के मद्देनजर शांति व्यवस्था बनाए रखने के संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए गए। बैठक में अपर जिलाधिकारी प्रशासन श्री रवीन्द्र कुमार सिंह, तीनों अपर पुलिस अधीक्षक, समस्त उप जिलाधिकारी/क्षेत्राधिकारी, थाना प्रभारी सहित संबंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

You might also like!

Leave a Comment

Ads
Ads
Ads