बीएएमएस योगा प्राकृतिक चिकित्सा प्रगति की तरफ से युवाओं का रुझान डॉ सैन


बीएएमएस योगा प्राकृतिक चिकित्सा प्रगति की तरफ से युवाओं का रुझान डॉ सैन

उजाला हितैषी ब्यूरो, बुलंदशहर। आज भारत को स्वस्थ रखने के लिये सनातन धर्म की प्राचीन योगा प्राकृतिक चिकित्सा पद्धति को हमारे वुजूर्ग ओर महापुरुषों की धरोहर को अपनाकर अपने राष्ट्रीय के प्रत्येक व्यक्ति को स्वस्थ बनाना होगा चौ शिवचरण सिंह योग प्राकृतिक पैरामेडिकल कॉलेज बुलंदशहर के प्रबन्धक निर्देशक डॉ यतेन्द्र कुमार सैन ने बताया कि संस्थान के माध्यम से योगा प्राकृतिक चिकित्सा पद्धति के पाठ्यक्रमों का जैसे बी ए एम एस प्राकृतिक वी वाइ एन एस, डी वाई एन एस आदि का संचालन किया जा रहा है। जिसको युवा और युवतियां करके प्राकृतिक चिकित्सा से विमारियों का निदान कर रहे है और वेरोजगरी से निजात मिल रही है यह चिकित्सा पद्धति से पुराने रोगी के लिये अमृत का कार्य करती है प्रत्येक व्यक्ति को योगा करना अनिवार्य है। हमारी संस्थान में योगा प्राकृतिक एक्यूप्रेशर थैरेपी द्वारा उपचार किया जाता है जब देश भर में कोरोना जैसे संक्रमण आया तो देश के यसस्वी माननीय श्री नरेन्द्र मोदी जी प्रधान मंत्री भारत सरकार ने सभी से अपील की आप अपने घर के अंदर रह कर योगा करे और प्राकृतिक चिकित्सा पद्धति से अपना उपचार स्वम करे। जिससे आज हम जीवित है स्वस्थ भारत स्वस्थ मिशन का प्रचार प्रसार करके अपना अपना योगदान देने की अपील की।

You might also like!

Leave a Comment

Ads
Ads
Ads