राजनीति

post author 23 April 2020, 09:44:00 PM

भाजपा फैला रही नफरत का वायरस: सोनिया


भाजपा फैला रही नफरत का वायरस: सोनिया

नई दिल्ली कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी पर तीखा हमला किया है। उन्होंने गुरुवार को हुई कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में कहा कि भाजपा कोरोना महामारी के दौरान सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने का काम कर रही है और नफरत का वायरस फैला रही है। उन्होंने कहा कि यह समय कोरोना से लड़ने का है तो इस समय भाजपा नफरत के वायरस फैला रही है। इस मौके पर उन्होंने स्वास्थ्यकर्मियों के साथ इस महामारी से लड़ रहे सभी लोगों की तारीफ की। सोनिया ने डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिक्स, स्वास्थ्यकर्मी, सफाई के काम से जुड़े कर्मचारी और जरूरी सेवाएं देने वाले लोगों, एनजीओ और इस दौर में पूरे देश में जरूरतमंदों की मदद कर लोगों को प्रेरणा का स्रोत बताया। उन्होंने कहा कि इनका समर्पण प्रेरणादायक है। सोनिया गांधी ने कहा- हमें ऐसे लोगों को भी सैल्यूट करना चाहिए, जो पर्याप्त पर्सनल प्रोटेक्शन उपकरण नहीं होने के बाद भी इस महामारी से लड़ने में अहम भूमिका निभा रहे हैं। केंद्र पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि कोरोना टेस्टिंग बढ़ाने के उनके सुझाव पर सरकार ने ध्यान नहीं दिया। देश में आज बहुत कम परीक्षण हो रहे हैं। सरकार ने कोरोना से लड़ने की तैयारियों पर भी विशेष ध्यान नहीं दिया। डाक्टरों तथा अन्य चिकित्सकर्मियों के लिए कोरोना से बचाव के पर्याप्त उपकरण उपलब्ध नहीं है। सोनिया गांधी ने कहा- कोराना योद्धाओं को इस बीमारी से बचाव के लिए जो सुरक्षा उपकरण, पीपीई उपलब्ध कराए जा रहे हैं, उनकी संख्या बहुत कम है। गुणवत्ता के लिहाज से भी ये बहुत खराब हैं। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने इस मौके पर कहा कि लॉकडाउन की सफलता का अंदाजा कोरोना से निपटने की हमारी क्षमता से लगाया जाता है। केंद्र और राज्यों के बीच सहयोग महामारी के खिलाफ हमारी लड़ाई की सफलता के लिए महत्वपूर्ण है। भाजपा ने किया पलटवार भाजपा पर नफरत का वायरस फैलाने के सोनिया गांधी के आरोपों पर पार्टी ने पलटवार किया है। भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री मंत्री प्रकाश जावडेकर ने सोनिया के बयान पर कहा- कांग्रेस जान बूझकर समाज में भेद पैदा कर रही है। यह समाज को कमजोर करता है। हम ऐसे बयानों की निंदा करते हैं। यह वक्त सकारात्मक राजनीति का था। इस समय सभी को सहयोग करना चाहिए। लोगों की मदद को आगे आना चाहिए। पर कांग्रेस बांटने वाली राजनीति कर रही है। जावडेकर ने कहा है कि कांग्रेस प्रमुख को इस मुद्दे पर सस्ती राजनीति नहीं करनी चाहिए। कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में सोनिया गांधी की ओर से भाजपा पर लगाए गए आरोपों का जवाब देते हुए जावडेकर ने कहा- हम सांप्रदायिक विभाजन नहीं कर रहे हैं. हम एकजुट होकर कोविड-19 से लड़ रहे हैं। हम उनसे सस्ती राजनीति नहीं करने का अनुरोध करते हैं। राहुल, प्रियंका ने की मजदूरों की मदद की अपील कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कोरोना वायरस को रोकने के लिए देश भर में लॉकडाउन के कारण देश के अलग अलग हिस्सों के फंसे प्रवासी कामगारों को राहत देने की अपील की। कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में दोनो मजदूरों की मदद करने की पैरवी करते हुए गुरुवार को कहा कि सरकार को इस काम को पहली प्राथमिकता देनी चाहिए। कांग्रेस के मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने बताया कि कांग्रेस कार्य समिति, सीडब्लुसी की वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए हुई बैठक में राहुल गांधी ने एक बार फिर दोहराया कि लॉकडाउन एक पॉज बटन की तरह है और कोरोना मुक्त इलाकों में कारोबारी गतिविधियों की शुरुआत करने की जरूरत है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने कहा- प्रवासी कामगारों के मुद्दे को पहली प्राथमिकता के तौर पर हल करने की जरूरत है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बैठक में कहा- कोरोना वायरस से लड़ाई में करूणा महत्वपूर्ण है और पीड़ित के प्रति शत्रुता का भाव नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि समय बीतने के साथ ही हमें जरूरी जांच और ऐहतियात बरतने के बाद प्रवासी कामगारों को घर लौटने की इजाजत देनी होगी। बैठक में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने कहा- कोरोना के खिलाफ लड़ने के लिए हालात संतोषजनक नहीं हैं। भारत सरकार को राज्यों के सामने पैदा हुए वित्तीय संकट और स्वास्थ्यकर्मियों के सामने पेश आ रही चुनौतियों का समाधान करना होगा।

You might also like!

Leave a Comment

Ads
Ads
Ads